नाला निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग करने से नाराज लोगों ने काम करने से रोका

नाला निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग करने से नाराज लोगों ने काम करने से रोका

नाला निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग करने से नाराज लोगों ने काम करने से रोका

गरीब दर्शन / बखरी बेगूसराय - नगर कार्यालय से बामुश्किल 500 गज की दूरी पर 39 लाख रुपये की लागत से बन रही  सङक व आर सी सी नाला निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग करने से नाराज स्थानीय लोगों ने संवेदक को काम करने से रोक दिया। मामला नगर क्षेत्र के वार्ड संख्या 22 अवस्थित सेवा सदन गली का है। बताया जाता है कि मुख्य सङक के कर्पूरी चौक से अवधपुरी लिटिल हर्ट स्कूल तक पी सी सी सङक तथा आर सी सी नाले का निर्माण किया जाना है। संवेदक द्वारा लगभग तीन फीट नीचे खोदे गये गड्ढे के ऊपर 8 एम एम का सरिया लगाये जाने से नाराज लोगो ने कार्य बाधित कर संवेदक से इस्टीमेट के अनुरूप निर्माण करने की बात कही। मुहल्ले के अशोक चौधरी, कुंदन केसरी, बद्री केसरी,सुरेन्द्र प्रसाद यादव, मो.मुनब्बर, हीरा लाल साह आदि का कहना हुआ कि नगर का यह सर्वाधिक व्यस्ततम मार्गो में से एक है। मुहल्ले में जन वितरण प्रणाली की दुकान सहित व्यवसायिक क्षेत्र होने के कारण माल लदे ट्रैक्टर सहित सैकङों वाहनों की आवाजाही उपरोक्त सङक से होती है। वहीं बाजार क्षेत्र में जाम की स्थिति होने पर अंबेडकर चौक की तरफ जाने के लिए यह मार्ग बायपास सङक का भी काम करती है। बाबजूद घटिया निर्माण किया जा रहा है। स्थानीय लोंगों ने योजना के जेई को कार्यस्थल पर बुलाने की मांग करते हुए कहा कि जब तक इस्टीमेट के अनुसार निर्माण नहीं होगा, तब तक कार्य बाधित रहेगा। मौके पर पहुंचे भाजपा नेता व पूर्व पार्षद सिधेश आर्य ने कहा बिहार की सरकारी योजनाओं में अधिकारी, कर्मचारी और संवेदकों की तिकङी को लूट की खुली छूट मिली हुई  है। नगर विकास विभाग भी इससे अछूता नहीं है। उन्होंने कार्यारंभ से पूर्व योजना के जेई की नामौजूदगी पर क्षोभ प्रकट करते हुए कहा कि निर्माण में तकनीकी पहलुओं को नजरअंदाज किये जाने से इसका भी हश्र कहीं एक करोड़ की लागत से बनी स्टेशन रोड सङक की तरह न हो जाये। मुख्य सङक के नाले में आठ एम एम का छङ बांधे जाने पर आपत्ति प्रकट करते हुए उन्होंने उपरोक्त योजना के जेई रंधीर कुमार से दूरभाष पर बात कर कार्यस्थल का विज़िट करने का आग्रह किया। लगभग तीन घंटे तक चले हो हंगामे के बाद नगर के जेई दिलीप कुमार कार्यस्थल पर पहुंचे। उन्होंने मुहल्ले के लोंगो को आश्वस्त करते हुए कहा कि गुणवत्ता में किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा। इस बाबत संवेदक को यथोचित निर्देश दे दिया गया है।