टीबी उन्मूलन के लिए टीबी चैंपियंस का कार्य सराहनीय- कार्यपालक निदेशक 

टेली काउंसिलन्ग सेवाओं से 9500 से अधिक टीबी मरीजों को मिली मदद

टीबी उन्मूलन के लिए टीबी चैंपियंस का कार्य सराहनीय- कार्यपालक निदेशक 
टीबी उन्मूलन के लिए टीबी चैंपियंस का कार्य सराहनीय- कार्यपालक निदेशक 

 
पटना/ 16 नवंबर- “टीबी से जंग जीत चुके टीबी सर्वाइवरस उन लोगों का समर्थन करने के लिए पूरी तरह योग्य हैं जिन्हें टीबी है, और टीबी से जुड़े कई पहलुओं की एडवोकेसी यानी पैरवी करने के लिए सबसे अच्छी स्थिति में हैं. हम टीबी सर्वाइवरस और चैंपियंस को आगे लाने और बिहार के टीबी उन्मूलन प्रयासों का समर्थन करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, इन्होंने सराहनीय कार्य किया है”, उक्त बातें कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार संजय कुमार सिंह ने रीच द्वारा आयोजित प्रसार बैठक में कही. बैठक का आयोजन राज्य टीबी सेल और टीबी मुक्त वाहिनी बिहार के टीबी सर्वाइवरस के नेतृत्व वाले नेटवर्क के सहयोग से और स्टॉप टीबी पार्टनरशिप के समर्थन से पटना के एक निजी होटल में किया गया ।


राज्य में 1.11 लाख हैं टीबी मरीज- डॉ. बी.के.मिश्र 
टीबी के राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. बी.के.मिश्र ने कहा “कोविड 19 द्वारा उत्पन्न विभिन्न चुनौतियों के बावजूद टीबी चैंपियंस ने टीबी से प्रभावित लोग जिनका उपचार चल रहा था , उन्हें समर्थन प्रदान करने के लिए टेली काउंसिलन्ग सेवाएं प्रदान करायीं. टीबी मुक्त वाहिनी के सदस्यों को टीबी उन्मूलन लक्ष्यों की दिशा में अपने प्रयासों को निडरता से आगे बढ़ाने और टीबी से प्रभावित समुदाय के लिए बेहतर सेवाओं की एडवोकेसी करने के लिए भी प्रोत्साहित किया”. डॉ. मिश्र ने बताया, राज्य में इस समय चिन्हित टीबी मरीजों की कुल संख्या 1,11,164 है और सर्कार एवं स्वास्थ्य विभाग टीबी उन्मूलन को लक्ष्य अनुसार 2025 तक ख़त्म करने हेतु संकल्पित है.
टेली काउंसिलन्ग सेवाओं से 9500 से अधिक टीबी मरीजों को मिली मदद:
बैठक में जारी इम्पैक्ट रिपोर्ट के अनुसार राज्य के 14 जिलों के 290  से अधिक टीबी से प्रभावित लोगों को टीबी और प्रमुख मुद्दों पर जानकारी दी गयी. टीबी चैंपियंस द्वारा प्रदान की जाने वाली टेली काउंसिलन्ग सेवाओं के माध्यम से टीबी से प्रभावित9500 से अधिक लोगों को सहायता मिली. समुदाय के 2800 से अधिक लोगों ने चैंपियंस द्वारा टीबी के बारे में जानकारी प्राप्त की और टीबी से प्रभावित 8500 से अधिक लोगों को कोविड उपयुक्त व्यव्हार पर परामर्श दिया गया और टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया गया. इस अवसर पर टीबी मुक्त वाहिनी के 10 जिला इकाइयों के सदस्यों ने प्रतिबद्धता के एक चार्टर को लांच किया और उसपर हस्ताक्षर किये.      


प्रत्येक टीबी चैंपियन समुदाय में एक लीडर है:
स्टॉप टीबी पार्टनरशिप के उप कार्यकारी निदेशक डॉ. सुवानंद साहू ने विडियो संदेश के माध्यम से टीबी चैंपियंस से आग्रह किया कि वे स्थानीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों को कोविड द्वारा उत्पन्न चुनौतियों को अवसर में बदलें और सीख लें. उन्होंने कहा हर टीबी चैंपियन अपने आप में समुदाय का लीडर है और सामुदायिक कार्यवाही टीबी देखभाल के लिए स्टिग्मा, भेद भाव और लिंग सम्बन्धी बाधाओं को दूर करने में सक्षम है.